शनिवार, 14 मार्च 2015

इतना पता चला फिर नफ़रत नहीं रही ।।

तुमको  हमसे  जब से  मोहब्बत  नहीं रही ।
मेरे  प्यार  में भी  उतनी  शिद्द्त  नहीं रही ।।
अपना बना के छोड़ देना आदत है तुम्हारी ।
इतना  पता  चला  फिर  नफ़रत  नहीं रही ।।

3 टिप्‍पणियां: